Saturday, 18 December 2010

महिला आरएएस अफसर को धमका रहे हैं केन्द्रीय मंत्री और डीजीपी

राजस्थान प्रशासनिक सेवा की अधिकारी गीतासिंहदेव को केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री नमोनारायण मीणा, पुलिस महानिदेशक हरिश्चंद्र मीणा, भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी ओ.पी. मीणा से धमकियां मिल रही हैं। गीतासिंहदेव की नींद उड़ी हुई है। मानसिक तनाव की वजह से वे सरकारी काम भी सही से नहीं कर पा रही हैं। इस सबके बावजूद पुलिस में उनकी एफआईआर तक दर्ज नहीं हो रही है। इसके लिए वे एसपी से लेकर गृहमंत्री शांति धारीवाल तक गुहार लगा चुकी हैं। शिकायती पत्र पर क्या कार्रवाई हुई यह जानने के लिए भी उन्हें सूचना के अधिकार कानून का सहारा लेना पडा है।
बकौल गीतासिंह उनकी शादी भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी ओ.पी. मीणा से हुई थी। मीणा अभी खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग में प्रमुख सचिव और केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री नमोनारायण मीणा, डीजीपी हरिश्चंद्र मीणा के भाई हैं। गीतासिंह का आरोप है कि पुत्र न होने की वजह से उन्हें लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है। आए दिन उनसे मारपीट की जाती है और घर से बाहर निकाल दिया जाता है। गत 15 नवंबर को भी उनके साथ मारपीट की गई, जिससे हाथ में फ्रेक्चर आ गया। जब वे बनीपार्क थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराने गई तो रिपोर्ट नहीं लिखी गई बल्कि सिपाही भेजकर उन्हें घर में रखवा दिया। बकौल गीतासिंह इस तरह की प्रताड़ना का यह सिलसिला उनके पिता जी. रामचंद्र के समय से ही चला आ रहा है। उनके पिता जी. रामचंद्र ने पहले भी तत्कालीन मुख्य सचिव अरुण कुमार नायर से कहकर इस मामले में हस्तक्षेप करवाया था।
गीतासिंह का आरोप है कि केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री नमोनारायण मीणा, डीजीपी हरिश्चंद्र मीणा ने उन्हें फोन करके धमकाया कि कहीं भी शिकायत कर ले, कुछ नहीं होने वाला। सीएम क्या पीएम से भी मिल लो तो कुछ नहीं बिगड़ेगा। इसी वजह से उनकी शिकायत पर कार्रवाई नहीं हो रही है। इधर, गीतासिंह की शिकायत वाली फाइल को डीजीपी हरिश्चंद्र मीणा ने गृह विभाग को यह कहकर लौटा दिया है कि इसकी जांच किसी दूसरी एजेंसी से करवाई जानी चाहिए।

No comments: