Tuesday, 12 October 2010

देवराजन को मिली सीबीआई से क्लीनचिट

भूमि संबंधी विवाद में भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी श्री एम.के. देवराजन को क्लीन चिट दे दी है। देवराजन 1977 के पुलिस अधिकारी हैं। आमेर में एक डीडराइटर श्रवणसिंह सामोता को पिछले दिनों भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने पकड़ा था। इसमें यह बात सामने आई थी की सामोता सब रजिस्ट्रार आकाश रंजन के लिए रिश्वत लेता था। इसके बाद रंजन ने देवराजन पर पद के दुरुपयोग का आरोप लगाया था। इस मामले में सीबीआई ने अब अदालत में डीडराइटर और रंजन के खिलाफ आरोप पत्र पेश करने की तैयारी कर ली है।
पत्नी के नाम से प्लॉट लेने के विवाद में पद के दुरुपयोग का आरोप लगने के बाद सरकार ने उन्हें भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के डीजी पद से हटाकर राजस्थान लघु उद्योग निगम (राजसिको) में सीएमडी लगा दिया था। पॉवर गेलेरी में चर्चा है कि स्वच्छ और ईमानदारी छवि के देवराजन पर पद के दुरुपयोग का दाग धुलने से अब उनका अगले साल सम्मानजनक रिटायरमेंट हो सकेगा। इससे पहले देवराजन राजस्थान के पुलिस महानिदेशक के दावेदार थे।

1 comment:

pawan said...

Devrajan Sahab is a honest Police Officer of Rajasthan.

Its good news for honest people.