Thursday, 21 May 2009

पहले दिन बहाल, दूसरे दिन जेल में

जयपुर जिले में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ.देवेन्द्र जुनेजा 18 मई, 2009 को बहाल हुए और अगले ही दिन जेल चले गए.स्थानीय अदालत ने उन्हें गोवंश तस्करी के एक मामले में दोषी माना और 20 मई,2009 को 5 साल के कारावास की सजा सुनाई.जुनेजा पर बछड़ों की आयु का गलत प्रमाण-पत्र जारी करने का आरोप था. राज्य सरकार ने उन्हें 13 मार्च,2006 को निलंबित किया था.उनके निलंबन आदेश की 28 अप्रैल,2006 को पुष्टि भी हो गई थी.

No comments: