Sunday, 31 May 2009

पांच आईएएस को केन्द्र में मिलेगी पदोन्नति

राजस्थान के 5 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को केन्द्र में पदोन्नति मिलेगी.इनमें 1976 बैच के अधिकारी के.एस.मनी और राजीव शर्मा का सेक्रेटरी स्तर के पद के लिए नामित (इम्पैनलमेंट) किया गया है. इनके साथ ही 1978 बैच के वी.एस.सिंह, 1979 बैच के सुधीर भार्गव और रवि माथुर का एडीशनल सेक्रेटरी पद के लिए नामित (इम्पैनलमेंट) किया गया है.इन अफसरों को जल्दी ही केन्द्र में पोस्टिंग मिलने की उम्मीद है.

Friday, 29 May 2009

आठ एडीशनल एस.पी.बदले

राज्य सरकार ने शुक्रवार को एक आदेश जारी करके राजस्थान पुलिस सेवा के आठ अधिकारियों के तबादले किए हैं.ये सभी अधिकारी एडीशनल एश.पी. स्तर के हैं.इनमें महावीरसिंह को एडीशनल एस.पी. पुलिस लाइन जयपुर, हरपालसिंह को एडीशनल एस.पी.एसीबी अजमेर,मामनसिंह यादव को एडीशनल एस.पी. करौली,सुनील कुमार विश्नोई को एडीशनल एस.पी.गंगापुरसिटी (सवाई माधोपुर),नंदलाल पवन को एडीशनल एस.पी.क्राइम विजीलेंस रेंज द्वितीय जयपुर, राजेन्द्र प्रसाद गोयल को एडीशनल एस.पी.कानून-व्यवस्था उदयपुर, बहादुर खां को एडीशनल एस.पी.पुलिस मुख्यालय जोधपुर और संपतराज व्यास को एडीशनल एस.पी.क्राइम जयपुर शहर में लगाया गया है.

Tuesday, 26 May 2009

डॉ.चुट्टानी पर चलेगा मुकदमा

सवाई मानसिंह अस्पताल में हृदयरोग विशेषज्ञ रह चुके डॉ.एस.के.चुट्टानी पर भ्रष्टाचार और मरीज से धोखा करने का मुकदमा चलाया जाएगा. राज्य सरकार ने इसके लिए 26 मई,2009 को अभियोजन स्वीकृति जारी कर दी.अब भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो डॉ.चुट्टानी के खिलाफ अदालत में आरोप-पत्र दायर करेगा.चुट्टानी के खिलाफ ब्यूरो ने जून 2000 में एक मरीज से इंस्टेंट लगाने के लिए 70,000 रुपए जमा करवा लेने और इंस्टेंट नहीं लगाने का मामला दर्ज किया था.

Monday, 25 May 2009

आईएफएस चौबे बहाल

अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक (प्रोजेक्ट्स)एवं भारतीय वन सेवा के वरिष्ठ अधिकारी अम्बरीशचंद्र चौबे को राज्य सरकार ने 16 अक्टूबर, 2008 से बहाल कर दिया है.उनकी बहाली के आदेश कार्मिक विभाग ने 25 मई, 2009 को जारी कर दिए.चौबे को 26 अगस्त, 2006 को निलंबित किया गया था.इस निलंबन आदेश को उन्होंने केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण में चुनौती दी थी.चौबे के खिलाफ विभागीय जांच पूरी होने के बाद उनकी निलंबन अवधि को नियमित करने के बारे में फैसला किया जाएगा.

पीडब्ल्यूडी के दो इंजीनियर निलंबित

भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी के एक मामले में प्रथम दृष्टया दोषी पाए जाने के बाद राज्य सरकार ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के दो इंजीनियरों को निलंबित कर दिया है.इनमें अधिशासी अभियंता रमेश चंद गर्ग और सहायक अभियंता मोहनलाल स्वामी हैं.भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने वर्ष 2001 में इनके खिलाफ चूरु जिले के रतनगढ़ उपखंड में पदस्थापित रहते हुए धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था.इस मामले में राज्य सरकार ने इन पर मुकदमा चलाने के लिए अभियोजन स्वीकृति दे दी है.

Friday, 22 May 2009

जैन के लिए नया पद सृजित किया

भारतीय वन सेवा के अधिकारी एस.के.जैन के लिए राज्य सरकार ने विशेषाधिकारी (प्रथम) कार्यक्रम क्रियान्वयन का नया पद सृजित किया गया है.जैन अब तक वन संरक्षक मेडिसनल प्लांट्स एवं ईको ट्यूरिज्म का काम देख रहे थे.

एडीजी नवदीपसिंह को कानून-व्यवस्था का जिम्मा

भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी श्री नवदीपसिंह को अब अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस(प्रशासन, प्रोवीजनिंग, कानून एवं व्यवस्था) का जिम्मा दिया गया है.वे अभी तक राजस्थान आम्डर् कोर (आरएसी) के एडीजी का काम देख रहे थे.आरएसी का अतिरिक्त कार्यभार अब एडीजी भास्कर चटर्जी को दिया गया है.वे अतिरिक्त रूप में यह काम देखेंगे.

Thursday, 21 May 2009

राज्यमंत्री की शिकायत पर इंजीनियर एपीओ

राज्य सरकार ने सार्वजनिक निर्माण राज्यमंत्री प्रमोद जैन भाया की शिकायत पर नेशनल हाइवे डिवीजन झालावाड़ के अधिशाषी अभियंता राजेन्द्र माथुर को एपीओ कर दिया है.भाया ने निरीक्षण के दौरान माथुर को राजकार्य में लापरवाही और गलत रिपोर्ट पेश करने का दोषी माना था.राज्यमंत्री ने इंजीनियर को सभी मार्गों पर पेड़ों और गति अवरोधकों की पुताई तथा झाड़ियों की कटाई-सफाई के निर्देश दिये थे.निरीक्षण के दौरान बारां-अकलेरा और छीपाबड़ौद के पास निर्देशों की पालना नहीं पाई गई.

आईएएस पंवार ने ली स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1982 बैच के अधिकारी परविंदरसिंह पंवार ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली है.राज्य सरकार ने उनकी वीआरएस 5 जून, 2009 से मंजूर की है.पंवार अभी तकनीकी एवं उच्च शिक्षा विभाग में प्रमुख सचिव हैं.पंवार का चयन कॉमन फंड्स फॉर कमोडिटीज नीदरलैंड में निदेशक के पद पर हो गया है.वे 5 जून के बाद नीदरलैंड जाएंगे. पंवार पिछले दो महीने में स्वैच्छक सेवानिवृत्ति लेने वाले दूसरे आईएएस अधिकारी हैं.इससे पहले अर्जुनराम मेघवाल ने लोकसभा का चुनाव लड़ने के लिए के वीआऱएस ली थी.वे बीकानेर से भाजपा के टिकट पर सांसद चुने गए हैं.

विभिन्न सेवाओं के 9 लोग निलंबन से बहाल

राज्य सरकार ने अलग-अलग आदेश जारी करके विभिन्न सेवाओं के 9 लोगों को निलंबन से बहाल किया है.इनमें विलायतीराम विधि रचना अधिकारी जयपुर,रमाकांत शर्मा औषधि नियंत्रण अधिकारी करौली,धर्मेश्वर प्रसाद शर्मा सहायक प्रभारी अधिकारी रसायनशाला अजमेर,डॉ.राजपाल गोदारा चिकित्सा अधिकारी हनुमानगढ़,डॉ.पुष्पा तिवाड़ी वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी बड़ी सादड़ी (चित्तौड़गढ़),डॉ.सुरेन्द्र राठी कनिष्ठ विशेषज्ञ (सर्जरी)बिलाड़ा जोधपुर, श्रीमती आशा चौहान बाल विकास परियोजना अधिकारी जयपुर,सावित्री शर्मा उप निदेशक (आईसीडीएस) जालौर, राजेन्द्र गौड़ सहायक वन संरक्षक सामाजिक वानिकी दौसा हैं. इनमें से कई अधिकारियों के निलंबन की पुष्टि भी हो चुकी है.

पहले दिन बहाल, दूसरे दिन जेल में

जयपुर जिले में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ.देवेन्द्र जुनेजा 18 मई, 2009 को बहाल हुए और अगले ही दिन जेल चले गए.स्थानीय अदालत ने उन्हें गोवंश तस्करी के एक मामले में दोषी माना और 20 मई,2009 को 5 साल के कारावास की सजा सुनाई.जुनेजा पर बछड़ों की आयु का गलत प्रमाण-पत्र जारी करने का आरोप था. राज्य सरकार ने उन्हें 13 मार्च,2006 को निलंबित किया था.उनके निलंबन आदेश की 28 अप्रैल,2006 को पुष्टि भी हो गई थी.

तेरह आईपीएस अफसरों को मिली ग्रेड

राज्य सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा के 13 अफसरों को जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड दी है। वर्ष 2000 बैच के इन अफसरों में 11 अफसर पुलिस अधीक्षक लगे हुए हैं. इनमें श्रीमती लता मनोज कुमार,उमेशचंद्र दत्ता,नवज्योति गोगोई,विजेन्द्र झाला,ए.वी. शुक्ला, रोहित महाजन,राकेश सक्सेना, रतनलाल,विपुल चतुर्वेदी,के.बहादुरसिंह कपूर, अशोक नरूका, डी.एस. चूडावत और शिवलाल जोशी हैं.

Friday, 15 May 2009

दो आरएएस अफसर बहाल

राज्य सरकार ने शुक्रवार 15 मई, 2009 को अलग-अलग आदेश जारी करके राजस्थान प्रशासनिक सेवा के दो अधिकारियों मूलाराम चौधरी और राकेश गर्ग को बहाल कर दिया है.इनमें मूलाराम चौधरी को 8 सितंबर, 2008 और राकेश गर्ग को 19 फरवरी 2008 को निलंबित किया गया था. सरकार ने इन दोनों के खिलाफ जांच प्रक्रिया विचाराधीन रखी है है.

Tuesday, 12 May 2009

डीडवाना सीएमएचओ निलंबित

राज्य सरकार ने 12 मई,09 को एक आदेश जारी करके नागौर जिले में डीडवाना के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. आर.के.नागौरी को निलंबित कर दिया है.उनके साथ ही कनिष्ठ लेखाकार महावीर प्रसाद को भी निलंबित किया गया है.नागौरी और महावीर प्रसाद को पिछले दिनों धोखाधड़ी और अमानत में खयानत करने के एक मामले में 48 घंटे से ज्यादा समय तक न्यायिक हिरासत में रहने के कारण निलंबित किया गया है.

Monday, 11 May 2009

जलदाय विभाग के दो इंजीनियरों को हटाया

राजधानी जयपुर में पेयजल आपूर्ति गड़बड़ाने के लिए जिम्मेदार मानते हुए जलदाय विभाग ने सोमवार को जयपुर के एसई आर.पी.माथुर और एक्सईएन (उत्तर) उदयभानु माहेश्वरी को पद से हटा दिया.इन दोनों को फिलहाल एपीओ रखा गया है.जयपुर शहर में पिछले कई दिनों से पीने के पानी की किल्लत बनी हुई है.लोग सड़कों पर आकर आंदोलन कर रहे हैं.मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पेयजल की समीक्षा बैठक में अफसरों को संवेदनशीलता से काम करने के निर्देश दिए थे.

Sunday, 10 May 2009

चुनाव पर्यवेक्षक पर हत्या का मामला दर्ज

राजस्थान में दौसा संसदीय क्षेत्र के गोठड़ा मतदान केन्द्र पर पुलिस फायरिंग में एक युवक की रविवार को मृत्यु हो गई. इस संबंध में मध्य प्रदेश कॉडर के आईएएस एवं चुनाव पर्यवेक्षक राजेश कुमा मिश्रा और कुछ अन्य पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास और अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.पर्यवेक्षक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सैंकड़ों लोग मृत युवक के शव को लेकर दौसा कलेक्ट्रेट के बाहर धरने पर बैठे हुए हैं.इन लोगों का आरोप है कि पर्यवेक्षक ने फर्जी मतदान की बात कहकर शांतिपूर्ण ढंग से चल रहे मतदान को रोक दिया था.जब भीड़ ने इसका विरोध किया तो पर्यवेक्षक ने फायरिंग करवा दी.राज्य निर्वाचन विभाग ने गोठड़ा में पुनर्मतदान की सिफारिश की है.